थायराइड में भूल से भी नहीं खाएं ये चीजें …. जाने थायराइड में क्या खाएं ?

सावधान हो जाएं अगर आपके शरीर का वजन अचानक बढ़ जाता है। और उससे आपको अपने शरीर में सुस्ती महसूस होने लगती हैं। आपके शरीर में रोगों से लड़ने की क्षमता कम हो जाती है। पीरियड्स अनियमित हो जाते हैं, लगातार कॉन्स्टिपेशन की शिकायत रहती है‌ चेहरे और आंखों पर सूजन आ जाती है तो समझ जाइए कि आपको कहीं थायराइड की प्रॉब्लम तो नहीं और यह बीमारी ज्यादातर 30 से 60 साल की महिलाओं में अधिक होती हैं।

आजकल सुनने में आता है कि थायराइड की परेशानी बहुत ज्यादा फैल रही है। अगर आप भी थायराइड से परेशान हैं, तो सबसे पहले अपनी डाइट सही कीजिए। वास्तव में सही डाइट लेने पर थायराइड की बीमारी को आसानी से काबू किया जा सकता है।

हाल ही में एक रिपोर्ट सामने आई है जिसमें कहा गया है, कि देश में हर दसवां व्यक्ति थायराइड का शिकार हो रहा है। खासतौर से महिलाओं में थायराइड के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। थायराइड की वजह से ही अस्थमा, कोलेस्ट्रॉल की समस्या, डिप्रेशन, डायबिटीज इनसोमनीया और दिल की बीमारियों का खतरा तेजी से बढ़ रहा है।

अगर आपको थायराइड की परेशानी है, तो आपको क्या खाना चाहिए, क्या नहीं खाना चाहिए। और हमारी डाइट में क्या क्या चीजें होनी चाहिए, जिससे हम थायराइड से बच सकते हैं, यह जान लेना बहुत जरूरी है।

इस बीमारी का मुख्य कारण है पैक्ड फूड और प्रोसैस्ड फूड की अधिकता। इस फूड को खाने का मतलब है जो आपके किचन में ताजा ताजा नहीं बना, या मार्केट में जो भी खाने पीने वाली चीजें होती हैं, उन्हें पैक्ड फूड कहा जाता है जैसे आपने चिप्स, मूंगफली, पेस्ट्री, केक बिस्किट, पिज़्ज़ा, पास्ता खा लिया। हमारी डाइट में यह चीजें इतनी ज्यादा बढ़ गई है कि थायराइड की परेशानी आजकल बहुत ज्यादा देखने को मिल रही है।

अगर आप अपनी हेल्थ को लेकर अवेयर है तो थायराइड की प्रॉब्लम को स्टेबल डाइट से ही कंट्रोल कर सकते हैं। कई बार ऐसा होता है कि जो चीजें पौष्टिक होती है लेकिन वह थायराइड के मरीजों को नहीं खानी होती तो आज हम डाइट की पूरी जानकारी देंगे अगर आपको मोटापे वाला हाइपो थायराइड है तो आपको अपनी डाइट में यह चीजें नहीं लेनी है।

  • बंध गोभी, फूल गोभी, गांठ गोभी, और शलगम यह चार सब्जियां अगर आपको थायराइड की प्रॉब्लम है, तो अपनी डाइट में नहीं लेनी।
  • अगर आप सोयाबीन या सोया प्रोडक्ट का अधिक प्रयोग करते हैं, तो इनका प्रयोग कम कर दीजिए।
  • आपको आपको अपनी डाइट में चाय कॉफी कोल्ड ड्रिंक चॉकलेट का प्रयोग कम से कम करना है
  • आपको आपको अपनी डाइट में सफेद चावल और सफेद ब्रेड का प्रयोग भी नहीं करना है।
  • डिब्बाबंद चीजों का कम से कम प्रयोग करना है चाहे वह बिस्किट है, नमकीन है,या सॉस है।
  • स्वीट पोटैटो, पेस्ट्री, केक, मूंगफली, बाजरा इन चीजों का प्रयोग भी कम करना है।

हाइपोथायराइड की प्रॉब्लम में थायराइड ग्लैंड सक्रिय नहीं होती। जिससे शरीर में जरूरत के मुताबिक t3 t4 नॉरमल नहीं पहुंच पाता इसकी वजह से शरीर का वजन अचानक बढ़ जाता है। और इसकी पहचान है कि अगर शरीर में सुस्ती बहुत रहती है, या आपको अनियमित पीरियड्स आते हैं, तो सावधान हो जाइए।

जानिए आपको थायराइड में क्या खाना है ?......

थायराइड की बीमारी से परेशान लोगों को आयोडीन युक्त भोजन लेना चाहिए

  • भोजन भोजन में हरी सब्जियां और साबुत अनाज को अवश्य शामिल करें।
  • ऑलिव ऑलिव ऑयल और नारियल का तेल यूज़ करें
  • फलों में जामुन स्ट्रौबरी केला संतरा भरपूर मात्रा में लें।
  • टोंड दूध और उस से बनी हुई चीजें जैसे दही पनीर आदि खाएं।
  • ड्राई फ्रूट्स में अखरोट और बादाम और खरबूजे के बीज भी खा सकते हैं। इनको खाने से थायराइड के फंक्शन में मदद मिलती है
  • इसके अलावा प्रोटीन और फाइबर से भरपूर अनाज का सेवन करना चाहिए
  • थायराइड के मरीजों को वह आहार लेना चाहिए जिसमें आयरन और कॉपर की पर्याप्त मात्रा हो।
  • आप अपनी डाइट में काली मिर्च, हरी मिर्च, हल्दी, और दालचीनी का इस्तेमाल भी कर सकते हैं।
  • फलों में आप पाइन एप्पल, एप्पल, पपीता और कीवी ले सकते हैं यह चारों फल आपकी हाइपो थायराइड की प्रॉब्लम को दूर करने में आपकी हेल्प करेंगे।
  • सब्जियों में आप आलू, टमाटर, भिंडी, मशरूम, गाजर, शिमला मिर्च, कद्दू ले सकते हैं यह सारी सब्जियां आप बिना झिझक ले सकते हैं। इनमें कुछ ऐसे मिनरल्स होते हैं जो थायराइड की ग्लैंड को काम करने में हेल्पफुल होते हैं।
  • इसके अलावा अपनी डाइट में मैग्नीशियम और सेलेनियम जरूर लें यह दोनों ही काजू, बादाम, अखरोट, खरबूजे के बीज या चिया सीड्स में पाए जाते हैं इनको खाने से आपके थायराइड ग्लैंड को सपोर्ट मिलेगा। वह अपना काम अच्छे से कर पाएगी और आपको थायराइड की परेशानी कम होगी।
  • शाम की चाय की जगह आप ग्रीन टी भी ले सकते हैं।
  • अगर आप घरेलू उपचार पर जाना चाहते हैं तो अजवाइन को गुनगुने पानी में डालकर रात को रख दें और सुबह छानकर इस पानी को पी लीजिए।
  • साबुत धनिया के बीज का पानी भी पी सकते है।

Diet plan for thyroid patient

सुबह के समय 6:00 से 7:00 के बीच में आंवले का जूस या लौकी का जूस लें।

उसके पश्चात आपको नाश्ता करना है 9:00 बजे।नाश्ते में आप ओट्स को उबालकर उसमें थोड़ी सी चिया सीड्स चालकर एक बॉल जरूर खाएं अगर आपको फिर भी भूख है, तो पपीता या एप्पल खा सकते हैं।

तकरीबन 11 या 12 के बीच में आपको फिर से भूख लगती है तो आप एक स्मूदी ड्रिंक भी ले सकते हैं जिसमें आप आधा एप्पल एक अखरोट दो बादाम डालकर लिक्विड बनाकर ले सकते हैं।

इसके अलावा आप गुनगुने पानी में एक चम्मच शहद आधा नींबू और अदरक का रस डालकर यह लिक्विड भी पी सकते हैं

आप चाहे तो 1 हफ्ते में एक या दो बार आप व्हीटग्रास का जूस भी पी सकते हैं यह बहुत ही फायदेमंद है थायराइड की प्रॉब्लम के लिए।

इसके अलावा जब भी आपका मन हो या खाना खाने का ज्यादा मन ना हो तो थायराइड की जो ड्रिंक होती है वह खीरा धनिया पीसकर छान लें और उसमें थोड़ा-सा नींबू डाल कर पिए।

1:00 से 2:00 के बीच में अपना लंच कर लें। लंच में या तो मिक्स अनाज की एक चपाती और सफेद चावल की जगह ब्राउन राइस खाएं अगर आपको अपना वजन भी कम करना है तो दाल की जगह हरी सब्जी खाए, उसमे गाजर, मेथी, पालक की सब्जी, और लो फैट दही ले।

इसके अलावा आप लंच में दाल या चने की दाल की खिचड़ी भी खा सकते हैं।

शाम की चाय में आप दूध वाली चाय ना लेकर ग्रीन टी लें।

नॉर्मल चाय की जगह आप हल्दी की चाय भी ले सकते हैं कच्ची हल्दी को पानी में उबालकर छानकर उसमें अदरक और हनी भी डाल सकते हैं। इस चाय के साथ आप दो बादाम एक अखरोट भी खा सकते हैं।

रात को 8:00 से 9:00 के बीच में अपना डिनर ले ले। ज्यादा लेट करोगे तो वजन बढ़ेगा रात की डाइट में आप ब्राउड ब्रेड का एक मिक्स वेजिटेबल सैंडविच ले सकते हैं या स्टॉप चपाती भी खा सकते हैं। ध्यान रहे रात की 200 कैलोरीज से ज्यादा ना हो।

रात को सोने से पहले अगर भूख है तो आप एक कप टोंड दूध ले सकते हैं विदाउट शुगर।

अंत में एक जरूरी बात अगर आपको थायराइड है, तो इस डाइट के साथ-साथ दवा भी खाएं। दोनों ही मिलकर काम करेंगे तो आपकी प्रॉब्लम जल्दी Cure होगी। इन सभी टिप्स को फॉलो कर इस प्रॉब्लम से छुटकारा पाएं और स्वस्थ हेल्थी लाइफस्टाइल जीऐ।

आपको इस टॉपिक की जानकारी कैसी लगी हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। और साथ ही साथ अपनी हेल्थ से जुड़ी प्रॉब्लम्स को भी शेयर करें, ताकि हम जल्दी ही उनका समाधान बता सके।

Stay fit

Mrs.Jain ( Yoga Expert )

30 Year's of Experience

Read more...

Meditation

yoga-3053488_640

If you are just learning to meditate, you'll find everything necessary to get started quickly and easily in our "Meditation Basics" rooms and our "Core Meditation" rooms. If you are already practicing meditation, you may discover some new methods to deepen your practice.

A variety of meditation techniques have been included, each producing its own unique experiences and benefits. The concise instructions for each meditation make it easy to read through it and try out the technique straight away.

The information you'll find here is universal - drawn from many of the world's spiritual traditions - not representative of any one path.

Discuss about your Health

DU 164 Pitampura Delhi

+91 9871111066
Read more...

Pregnancy Yoga

girl-18918_640

You’re expecting?! Congratulations! You must be – excited, scared, happy, and overwhelmed – all at the same time. It’s difficult to put your finger on just what you’re feeling, isn’t it? The kicks are delightful, but the cramps are debilitating.

Antas offers yoga classes for pregnant ladies, yoga can be of great help to the expectant mothers during the pregnancy, at childbirth and in post-delivery stages. The yoga poses and meditation techniques help to make the body more flexible, improve posture, reduce anxiety and ease many pregnancy issues. It prepares both your body and mind for new situations and changes that occur during and after pregnancy.

For more information on the batch timings please do contact us and we will be sure to answer any of your questions or concerns.

DIscuss about your Health

DU 164 Pitampura Delhi


+91 9871111066

Read more...

Diet Plan

yoga classes

Yoga diet is like any other diet that a person should follow for a workout. Just as it’s not enough just to lift weights without a proper intake of protein-rich food, it’s also not enough to just practice yoga every day without a diet to support it. An intake of the right food items in right proportions will only enhance your yoga practice and give it more meaning.

Yoga practitioners of ancient times laid great importance on the yogic diet, and though many have gone astray in between, recently the practice has been revived again. Yogic philosophy emphasizes that proper adjustment in the consumption of food can prevent and even cure diseases, make you more mindful, and emotionally stable. Other than that, doing so can also change a person’s perspective of life and character too.

Read more...